खेती करके ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए 

हमारा भारत कृषि प्रधान देश है। हमारे भारत को कृषि प्रधान देश इसलिए कहा जाता है क्योंकि यहाँ की जलवायु और मिट्टी खेती के लिए बहुत ही उपजाऊ है। खेती के माध्यम से ही सभी लोग खाना खा पाते है। भारत में खेती बाड़ी प्राचीन काल से चला आ रहा एक बहुत ही मुख्य व्यवसाय है। आज भी कुछ किसान ऐसे है जो रोजगार की तलाश में गांव से शहर की ओर पलायन कर रहा हैं।जिससे उसे भी एक अच्छा रोजगार प्राप्त हो सके। लेकिन गांव में रहकर भी पैसे कमाना संभव है।

किसान अपने गांव में भी रहकर अपना खुद का एक अच्छा व्यवसाय शुरू कर सकते हैं, वो भी कम लागत में। सरकार ने किसानों के लिए बहुत सारी योजनाएं लागू की हैं। आज के बदलते हुए युग में लोग ऑनलाइन पैसे कमा रहे हैं। किसानों के लिए सरकार द्वारा बहुत सारी ऑनलाइन योजनाएं जारी की है जिसकी सहायता से किसान पैसे कमा सकते है। अगर आप खेती करके ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए इस विषय में जानना चाहते है तो article को अंत तक पढ़ने का प्रयास करें। 

खेती करके ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए 

खेती किसे कहते हैं?

हमारे भारत देश में खेती की शुरुआत आज से ७ हजार साल पहले हुई थी। किसी भी एक क्षेत्र में स्थित जब कई सारे किसान मिलकर वस्तुओं का उत्पादन करते है उसे हम खेती कहते है। 

भूमि पर की जाने वाली सभी कृषि क्रियाएं एवं पशुपालन करना ही खेती कहलाता है। खेत भूमि का एक मात्र वह क्षेत्र है जो की मुख्य रूप से खाद्य और अन्य फसलों के उत्पादन के सबसे पहले उद्देश्य के साथ कृषि प्रक्रियाओं के लिए समर्पित है खेत ही खाद्य के उत्पादन में बुनियादी सुविधा है। खाद्य का उपयोग कृषि योग्य खेतों के लिए किया जाता है। जैसे की सब्जी के खेतों के लिए, फलों के खेतों के लिए, डेयरी, सुअर और कुक्कुट फार्म के लिए और प्राकृतिक फाइबर, जैव ईंधन और अन्य वस्तुओं के उत्पादन के लिए उपयोग की जाने वाली भूमि जैसी विशेष इकाइयों के लिए किया जाता है।

आधुनिक समय में खेती शब्द का विस्तार किया गया है ताकि पवन farm और मछली farm जैसे औद्योगिक संचालन शामिल हो सकें, जो दोनों भूमि या समुद्र पर काम कर सकते है। दुनिया भर में लगभग 570 मिलियन फार्म उपलब्ध है, जिनमें से अधिकांश छोटे और परिवार संचालित करते है। 2 हेक्टेयर से कम भूमि वाले छोटे खेत दुनिया की कृषि भूमि का लगभग 1% संचालित करते है, और पारिवारिक खेतों में दुनिया की लगभग 75% कृषि भूमि शामिल है। विकसित देशों में आधुनिक तकनीक आजमाकर खेती की जाती है। समय के साथ-साथ कृषि श्रमिकों की संख्या में काफी कमी आई है।

यूरोप में, पारंपरिक पारिवारिक फार्म बड़ी उत्पादन इकाइयों को रास्ता दे रहे है। ऑस्ट्रेलिया में, कुछ खेत बहुत बड़े है क्योंकि जलवायु परिस्थितियों के कारण भूमि पशुधन के उच्च स्टॉकिंग घनत्व का समर्थन करने में असमर्थ है। कम विकसित देशों में, छोटे खेत आदर्श है, और अधिकांश ग्रामीण निवासी निर्वाह किसान है, अपने परिवारों को खिलाते हैं और स्थानीय बाजार में किसी भी अधिशेष उत्पाद को बेचते है।

हम खेती इसलिए करते हैं क्योंकि एक विशाल जनसंख्या को भोजन प्रदान करने के लिए खेती से नियमित उत्पादन और वितरण करना आवश्यक है।

आधुनिक खेती कैसे की जाती है

पहले के समय में खेती आधुनिक तरीके से नहीं की जाती थी। इसलिए किसानों को अनेक औजारों से साथ-साथ उन्हें चलाने वाले और किसान भी लगते थे इसलिए फसल को उगने में भी काफी समय लगता था। आज के बदलते हुए युग में लोग काफी आधुनिक हो चुके है। लोगों ने किसानों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए उनकी सहायता के लिए आधुनिक उपकरणों का आविष्कार किया है। आधुनिक खेती में कृषि यंत्रों की बहुत ही अहम भूमिका है।

इन कृषि यंत्रों और उपकरण की सहायता से खेती में बहुत ही कम लागत आती है और समय का भी सदुपयोग होता है। जैसे कि आप जानते होंगे पहले के लोग हंसिया, खुरपी, कुल्हाड़ी, फावड़ा, हल, कुदाल इन सभी चीजों का खेती करने के लिए उपयोग करते थे। लेकिन आज मानव ने बहुत उन्नती कर ली है आज खेती के लिए बहुत सारे आधुनिक उपकरणों का प्रयोग किया जाता है जैसे कि मिनी पावर tiller, seed planter, drip irrigation kit, crop cutter मशीन, sprayer पम्प आदि, इन उपकरणों की सहायता से काम बहुत जल्दी हो जाता है।

कम जगह और कम लागत में आधुनिक विधि अपना कर भी किसान सब्जियों की खेती कर सकते हैं। खेती को लाभदायक बनाने के लिए आपको दो उपाय करने की बहुत आवश्यकता होती है:-पहला की उत्पादन को बढ़ाएँ और दूसरा लागत को कम करें। कृषि की लागत नियत्रिंत करने के लिए कृषि के मुख्य आदान जैसे- बीज, उर्वरक, पौधे संरक्षण रसायन और सिंचाई तंत्र का संतुलित एवं आधुनिक विधियो द्वारा प्रयोग करना चाहिए।

खेती करके ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए?

आज के बदलते हुए युग में सभी कार्य ऑनलाइन हो रहे हैं। इससे बहुत सहायता भी होती है। आप ऑनलाइन की वजह से सारे कार्य बहुत ही आसानी से व कम समय में कर सकते हैं। आपके मन में यह सवाल अवश्य आ रहा होगा कि आखिर आप खेती करके ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं? हमारे देश की सरकार ने काफी सारी योजनाओं को लागू किया है, जिससे की किसानों को भी बहुत लाभ हो सके।

ये ऑनलाइन योजनाएं इसलिए लागू की गई हैं क्योंकि अगर सारे लोग ऑनलाइन का लाभ उठा रहे हैं, तो किसान जो हमारे लिए पूरे दिन काम करते है और crore लोगों का पेट भरते है तो सभी का फर्ज बनता है उनके लिए कुछ करें। instagram Facebook जैसी social media sites पर भी ऐसे Accounts बनाए गये है जिसकी सहायता ये किसान अपने खेतों में उपजी वस्तुओं को बेच सकते है।

उनमे से अधिक जाना जाने वाला Account का नाम है Kheti online इन सभी की सहायता से किसान अधिक लाभ भी उठा सकते हैं। क्योंकि आज के समय के लोग वस्तुओं को देखकर ज्यादा अच्छे दामों में खरीदते है। किसानों के लिए सरकार ने बहुत सारे योजनाएं लागू की है जैसे की eNAM portal योजना, जैविक खेती Portal ऐसे बहुत सारी योजनाएं सरकार ने किसानों के लिए लागू की है। आइये इन्हें विस्तार में समझते हैं। 

eNAM Portal

eNAM की फुल फॉर्म National Agriculture Market है। eNAM योजना को 14 अप्रैल 2016 में भारत में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा लागू किया गया था। हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश के किसानो के लिए फसलों को लेकर उत्पन्न होने वाली समस्याओं को सुलझाने के लिए eNAM रजिस्ट्रेशन नाम की योजना को शुरू किया गया है। eNAM registration योजना को राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना के नाम से भी जाना जाता है। eNAM योजना का मुख्य उद्देश्य बाजार में सूचना विषमता को दूर करना और वास्तविक समय मूल्य खोज को बढ़ावा देना है। 

eNAM Portal योजना मुख्य रूप से अपनी फसल बेचते समय किसानो को होने वाली समस्याओं को हल करने के लिए लागू की गई है। राष्ट्रीय कृषि बाजार एक पैन-इंडिया इलेक्ट्रॉनिक व्यापार पोर्टल है जो कि किसी भी कृषि से संबंधित उपजे सामान के लिए एक एकीकृत राष्ट्रीय बाजार का निर्माण करने के लिए मौजूदा एपीएमसी (APMC) मंडी का एक प्रसार है। इस eNAM Portal के माध्यम से ही देश के सभी किसान अपनी फसलों को ऑनलाइन कही भी भेज सकते है और उन्हें ऑनलाइन बहुत ही आसानी से बेच भी सकते हैं।

किसान के द्वारा ऑनलाइन बेचीं गयी फसलों का भुगतान वे अपने बैंक अकाउंट में प्राप्त कर सकते है। इससे किसानों को बहुत ही लाभ होता है। देश के वह किसान जो अपनी फसल को ऑनलाइन बेचना चाहते है वह घर बैठे इंटरनेट की सहायता से eNAM Portal पर जाकर बहुत ही आसानी से बेच सकते हैं| साथ ही साथ अब हमारे देश के किसान खुद eNAM Portal पर जाकर अपना ऑनलाइन पंजीकरण भी कर सकते है।

eNAM Portal की सहायता से किसान अपनी फसलों को उचित दामों में बेच सकते हैं और बेची गई फसलों की कीमत को सीधे अपने Account में प्राप्त कर सकते हैं। अगर आप भी यह सोचते हैं की खेती करके ऑनलाइन पैसे कैसे कमाये तो आप eNAM Portal योजना की सहायता से ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं आपको इसके लिए पहले registration करना होगा उसमे आपको कुछ documents की आवश्यकता होगी जैसे की आधार कार्ड,पासपोर्ट साइज फोटो, वोटर ID कार्ड, बैंक पासबुक और आपका मोबाइल नंबर। 

eNAM Portal में registration कैसे करें

अगर आप भी eNAM योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको eNAM Portal पर registration(पंजीकरण) करना आवश्यक है। registration के पश्चात ही आप अपनी फैसलों को ऑनलाइन बेच सकते हैं और उनसे पैसे कमा सकते है। registration के लिए आपको कुछ स्टेप्स फॉलो करने होंगे:-

  1. Registration करने के लिए आपको सबसे पहले आपको eNAM Portal की official वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. वेबसाईट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज ओपन हो जाएगा आप नीचे दिये चित्र में देख सकते हैं। 
eNAM Portal की official वेबसाइट
  1. इसके बाद आपको registration पर क्लिक करना है। 
  2. Registration पर क्लिक करते ही आप registration form वाला पेज आपके सामने ओपन होगा। ये आप नीचे दिये गए चित्र में देख सकते हैं।
eNAM registration form
  1. इस फॉर्म में आपको सबसे पहले किसान पंजीकरण प्रकार(registration type) और पंजीकरण स्तर (registration level) का चयन करना होगा। 
  2. इसके बाद registration फॉर्म में पूछी गयी अपनी सारी जानकारी को बहुत ही ध्यानपूर्वक भरना होगा। registration फॉर्म भरने के बाद नीचे दिये गए submit के ऑप्शन पर आपको क्लिक करना होगा। इसके बाद आपकी registration प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी। 
  3. इसके बाद आप किसान मंडियों में लॉगिन कर सकते हैं इसके लिए आपको फिरसे होम पेज पर जा कर registration के साथ जो लॉगिन ऑप्शन होगा उसपर क्लिक करना होगा। 
  4. अंत में आप योजना का संपूर्ण लाभ उठा सकते हैं।

जैविक खेती Portal

जैविक खेती को अंग्रेजी में organic farming कहते हैं। जैविक खेती की शुरुआत सर Albert Howard के द्वारा की गयी थी। भारत देश में साल 2003-04 में जैविक खेती को लेकर गंभीरता दिखाई गई थी और 42,000 हेक्टेयर क्षेत्र से जैविक खेती की शुरुआत हुई थी। मार्च 2010 तक आते आते यह क्षेत्रफल बढ़कर 10 लाख 80 हजार हेक्टेयर हो गया है। जैसे कि आप लोग जानते ही होंगे की जैविक खेती को विश्व स्तर पर बहुत ही बढ़ावा दिया जा रहा है।

organic farming को दुनिया भर के देशों जैसे china, Australia, Argentina में अपनाया जा रहा है इन सभी देशों के साथ-साथ हमारे भारत में भी पिछले कुछ वर्षों में जैविक खेती की मांग उत्पन्न हुई है। आजकल के सभी लोग इसे अपनाने लग गये हैं किन्तु अभी भी कुछ किसान ऐसे हैं जो रासायनिक खेती को बढ़ावा देते है। इन सभी चीजों को ध्यान में रख कर भारत सरकार जैविक खेती को अपनाने के लिए काफी सारे फैसले ले रही है। जैविक खेती को बढावा देने के लिए हाल ही में सरकार ने जैविक खेती Portal को launch किया है।

Organic farming Portal के माध्यम से किसानों को अपने खेतों से उतपन्न हुई वस्तुओं को बेचने की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। जैविक खेती Portal के माध्यम से खाद्य पदार्थ जैसे की अनाज, दाल, फल और सब्जियां खरीदारों द्वारा बहुत ही कम कीमतों पर खरीदे जा सकते हैं। अगर आप इन खाद्य पदार्थों को खरीदते हैं हो आपको उनकी delivery घर बैठे प्राप्त हो सकेगी।

जैविक खेती Portal के माध्यम से किसान अपनी फसलों को सीधे ही खरीदार को बेच कर पैसे कमा सकतें हैं। और किसान के द्वारा ऑनलाइन बेचीं गयी फसलों का भुगतान वे अपने बैंक अकाउंट में प्राप्त कर सकते है। जैविक खेती Portal के माध्यम से ही जैविक खेती से अखिर क्या लाभ हो सकते हैं उससे संबंधित सम्पूर्ण जानकारी किसानों को प्राप्त हो सकेगी। 

जैविक खेती portal में पंजीकरण कैसे करें

Buyer जैविक खेती Portal पर पंजीकरण कैसे करें 

  1. जैविक खेती portal पर पंजीकरण करने  के लिए सबसे पहले आपको इसकी official वेबसाइट पर जाना होगा। 
  2. आप इसके लिए Google सर्च इंजन पर जैविक खेती registration as Buyer डाल कर सर्च कर लें। 
  3. आपको 1 नंबर पर Buyer पंजीकरण दिखाई देगा आपकी उसपर क्लिक करना होगा। Buyer पंजीकरण पर क्लिक करते ही आप जैविक खेती की official वेबसाइट पर पहुँच जाएंगे। 
  4. वेबसाइट पर पहुंचाते ही आपके सामने नीचे दिये गये चित्र के भाति पेज दिखाई देगा।
registration as Buyer
  1. इसके बाद आपसे पूछी गयी जानकारी को बहुत ही ध्यानपूर्वक भरना होगा। 
  2. सारी जानकारी को भरने के बाद आपको submit button पर click करना होगा। 
submit button पर click
  1. Submit बटन पर क्लिक करते ही आपकी पंजीकरण की प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी। 

Seller जैविक खेती Portal पर पंजीकरण कैसे करें 

  1. यदि आप सेलर हैं तो सबसे पहले आपको google के सर्च इंजन पर आपको www.jaivikkheti.in डालना होगा। 
  2. आपके सामने जो पहला ऑप्शन आयेगा उसमे आपको registration पर click करना होगा। 
  3. इसके बाद आप जैविक खेती की official वेबसाइट पर आ जाएंगे।
  4. वेबसाइट पर आते ही नीचे दिये गये चित्र जैसे आपको पेज दिखाई देगा। आप अपनी choice के अनुसार भाषा को भी चुन सकते हैं। 
Seller जैविक खेती Portal पर पंजीकरण
  1. इसके बाद आप register as individual farmer, local group or input suppliers इन तीनों में से आप किसी भी ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं। 
  2. क्लिक करते ही आपके सामने एक एक पेज ओपन हो जाएगा उसमें आपसे पूछी गयी अपनी सारी जानकारी बहुत ही ध्यानपूर्वक भरनी होगी। 
  3. जानकारी में आपको नीचे दिये गए terms of use को भी आपको ध्यानपूर्वक पढ़ने के बाद I agree पर टिक करना होगा।
  4. सारी जानकारी को भरने के बाद आपको नीचे दिये गये submit पर click करना होगा। ज्यादा अच्छे से समझने के लिए आप नीचे दिये गए चित्र में देख सकते हैं। 
local group or input suppliers
  1. Submit करने के बाद आपके सामने एक OTP का पेज ओपन होगा उसमे आपके फोन पर आयी हुई OTP को आपको उसमे डालने के बाद submit OTP option पर click करना होगा।
  2. OTP submit करने के बाद आपके सामने create password का पेज ओपन हो जाएगा उसमें आपको अपने लिए एक strong password डालना होगा जिससे की कोई और व्यक्ती आपके सामना का फायदा ना उठा सके। password डालने के बाद आपको submit button पर click करना है। 
  3. यहाँ पर आपकी पंजीकरण प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी। इसके बाद आप login प्रक्रिया जारी कर सकते है। 
  4. Login करने के लिए आपको उसी पेज पर login लिंक पर क्लिक करना होगा। लिंक पर क्लिक करते ही आपके सामने Sign In पेज खुलके आ जाएगा। 
  5. Sign In पेज में आपको अपनी जानकारी जैसे आपका मोबाइल नंबर या ईमेल ID और आपको password डालकर नीचे दिये गए submit बटन पर क्लिक कर देना है।
  6. इन सभी प्रक्रिया के बाद आपका Account खुल जाएगा अब आप अपनी फसलों को सही दामों में किसी को भी बेच सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं। 

खेती करके कितने पैसे कमा सकते है

बहुत से लोगों के मन में यह सवाल जरूर होता है की आखिर हम खेती करके ऑनलाइन पैसे कैसे कमाये। तो इसका सीधा जबाव यह है कि अगर आप चाहे तो आप खेती कर के बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं वो भी घर बैठे और अगर आप चाहे तो कुछ भी नहीं। 

मान लीजिए अगर आपकी फसल बहुत अच्छी क्वालिटी वाली होती है, तो आपकी फसल बहुत ज्यादा अच्छे से बिकेगी और इससे आप अच्छे पैसे कम सकते हैं। इसलिए यह आपकी फसल पर निर्भर करता है, की आपकी फसल कितनी अच्छी तरह से उगी है।बहुत बार ऐसा होता है की बारिश की वजह से फसलों को काफी नुकसान होता है। इसलिए किसान भी अच्छे पैसे नहीं कमा पाते हैं। किंतु आज के समय में भारत सरकार ने किसानों के लिए कई सारे कदब उठाए है। अगर किसानों की फैसलों को बारिश की वजह से कोई भी भारी नुकसान होता है तो सरकार किसानों को मुआवजा भी प्रदान करती है। किसानों के लिए सरकार ने राशन भी मुफ्त कर दिया है।

ऑनलाइन खेती करने के फायदे

खेती ऑनलाइन करने के बहुत सारे फायदे सामने आए हैं। पहले इन्टरनेट शहरों तक ही सीमित था लेकिन आज के समय में गांव के लोग भी इन्टरनेट का प्रयोग करना बहुत ही भलीभांति जानते हैं। इन्टरनेट की सहायता से किसान अब मौसम की जानकारी बहुत ही आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। इसकी सहायता से उनकी फसलों को कोई भी हानि नहीं पहुंचेगी। क्योंकि पहले के समय में जब इन्टरनेट की सुविधा नहीं थी, तब मौसम की सही जानकारी ना होने के कारण किसानों को कई सारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता था।

अचानक से मौसम में बदलाव के कारण उनको और उनकी फसलों को भारी नुकसान से गुजरना पड़ता था। किंतु इन्टरनेट की सहायता किसान पहले से ही मौसम के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेते हैं। जिसकी सहायता से उन्हें अपनी फसलों को बचाने के लिए उपाय खोजने का समय मिल जाता है। आप ऐसे भी समझ सकते हैं, जैसे की अगर किसान की फसल में पानी देने का समय आ गया है और किसान को मौसम की जानकारी से ये पता चल जाए की अगले 2-3 दिनों में बारिश होनी वाली है तो किसान फसलों में कुएँ से पानी न देके बारिश का इंतज़ार कर सकते हैं,जिससे की उनकी फसलों को भी नुकसान होने के chances बहुत कम होते है।

कुछ साल तक इंटरनेट की सुविधाएं इतनी नहीं थी। बहुत ही कम लोग इन्टरनेट की सहायता से ऑनलाइन सामान खरीदने व बेचने का कार्य करते थे किंतु आजकल सब कुछ ऑनलाइन होने लगा है। लोग घर बैठे ही ऑनलाइन कार्य करके पैसे कमाना पसंद करते हैं। और करें भी क्यूँ ना उन्हें इससे बहुत लाभ होता है। जब हमारे देश में इन्टरनेट की सुविधा गांव तक इतनी प्रबल नहीं थी तो देश के आधे से ज्यादा किसानो को ये भी नहीं पता रहता था की उनके लिए देश में क्या क्या योजनाएँ सरकार दे रहे है। और अगर टीवी से पता चल भी जाता था तो उसका पंजीकरण कहा से करवाए ये नहीं पता चलता था।

लेकिन अब सारे कार्य ऑनलाइन होने के कारण इन्टरनेट की सुविधाएं गांव में भी पहुच रही है जिसके कारण किसान भी सरकारी योजना की पूरी जानकारी ले सकते है और पंजीकरण भी ऑनलाइन करवा सकते हैं। जिसके की वे योजनाओं का लाभ उठा सकते है। और आप जानते ही होंगे जैसे की मंडी में भाव रोजाना बदलते रहते है। पहले के किसान को रोजाना मंडी जाकर पता करना होता था की आज फसल का क्या भाव चल रहा है। किंतु आज सब ऑनलाइन होने के कारण कारण किसान घर बैठे ही इन्टरनेट की सहायता से ऑनलाइन मंडी के भावों का पता लगा सकते हैं। मंडी भाव पता करने के लिए किसान खेती ज्ञान की मंडी भाव वेबसाइट पर जाकर मंडी के आज के भाव सुनिश्चित कर सकते है।

इसे भी पढ़ें:

निष्कर्ष

हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से पूरी जानकारी देने की कोशिश की है, आप किस प्रकार खेती करके ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए। ऑनलाइन खेती websites की सहायता से आप घर बैठे बहुत ही आसानी से पैसे कमा सकते हैं। मैं आशा करती हूँ कि मेरी ये कोशिश आपको पसंद आई होगी। यदि आपको लगता है कि इस आर्टिकल से दूसरों को भी हेल्प हो सकती हैं तो आप इससे अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर जरूर करें जिससे और भी लोग इसका लाभ उठा सके। मैं आशा करती हूं आपको इस आर्टिकल से अच्छी जानकारी मिली होगी। धन्यवाद!

FAQ’S

eNAM Portal को launch करने का मुख्य उद्देश्य क्या है?

eNAM की फुल फॉर्म National Agriculture Market है। eNAM Portal योजना मुख्य रूप से अपनी फसल बेचते समय किसानो को होने वाली समस्याओं को हल करने के लिए लागू की गई है। e-NAM को launch करने के पीछे भारत सरकार का मुख्य उद्देश्य कृषि विपणन में एकरूपता को बढ़ावा देना है। और बाजार में फसलों का सही दामों में बेचना है। और करप्शन को रोकना है जिसके की किसान अपने हक का खाना पाए और पैसे कमा पाए। 

किसान ऑनलाइन होने वाली समस्याओं का हल कैसे कर सकते हैं?

यह सवाल खासकर सभी के मन में आएगा की ऑनलाइन काम करते समय अगर हमे कोई परेशानी हो तो उसका हल कैसे मिल सकता है। इसके लिए भारत सरकार ने कुछ नंबर और वेबसाइट जारी की हैं। जिनकी सहायता से अगर  किसी भी किसान को वेबसाईट, पंजीकरण या फिर कोई और किसी विशेष में समस्या उत्पन्न होती है तो वे सरकार द्वारा जारी की वेबसाइट और फोन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं वे कुछ इस प्रकार हैं:-
Helpdesk— 033 23400020/21/22
E-mail ID— jaivikkheti@mstcindia.co.in
e-Bazaar— www.jaivikkheti.in/shop
File a Grievance– www.jaivikkheti.in/grievance
Note: किसी भी साइट या नो पे कॉल करने से पहले उसे कुछ वेरीफाई जरूर करें।

PaiseKaiseKamayen
error: Alert: Content selection is disabled!!