फास्ट फूड का बिजनेस करके पैसे कैसे कमाए

आज के समय में आपको पता ही होगा की फास्ट फूड को लोग कितना अधिक पसंद करते है। हिंदुस्तान में फास्ट फूड की मांग दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। क्योंकि आजकल हमारे भारत देश में फास्ट फूड को बहुत ही ज्यादा पसंद किया जा रहा है। फास्ट फूड की मांग को बढ़ता देख इसकी बिक्री भी अधिक होती जा रही है। फास्ट फूड के बिजनेस में कामयाबी देखकर अब आपको लगभग सभी गली मोहल्ले और रोड साइड आपको फास्ट फूड के काउन्टर दिख ही जायेंगे। और इसके अलावा जितना ही ज्यादा फास्ट फूड पसंद किया जा रहा है, उतना ही विदेशी कंपनियां भी भारत में खुलती जा रहीं हैं।

फस्ट फूड का चलन विदेशों से ही हुआ है। हमारे भारत देश में बहुत सारी कंपनियां जैसे कि swiggy, zomato जो की बहुत ही ज्यादा Trend में है लाखों करोड़ो लोग आज-कल इन्हीं से खाना मंगाना पसंद करते है। zomato और swiggy जैसी कंपनियो से लोग फस्ट फूड मंगाना इसलिए पसंद है की उन्होंने अपनी मार्केट स्ट्रैटिजी इसी प्रकार से बना रखी है कि लोग उनका फास्ट फूड ज्यादा से ज्यादा खरीद पाएं। Zomato और स्विग्गी जैसी कंपनियां अपने रेस्टोरेंट में खाना ज्यादा नहीं बेचते हैं वे घर बैठे ही खाने की डिलीवरी करतें हैं। यह बहुत ही ज्यादा अच्छी मार्केट स्ट्रैटिजी है पैसे कमाने के लिए। आजकल लाखों कंपनियां फस्ट फूड को अपने बिजनेस का जरिया बना कर लाखों-करोड़ों रुपये कमा रहे हैं। और फास्ट फूड बिजनेस पैसे कमाने का एक बहुत अच्छा जरिया साबित होता है।

फास्ट फूड का बिजनेस करके पैसे कैसे कमाए
फास्ट फूड का बिजनेस करके पैसे कैसे कमाए

फास्ट फूड को बनाने के लिए कम लागत के साथ-साथ बहुत ही कम समय का भी प्रयोग होता है इससे आप अच्छे खासे पैसे कमा सकते है। आजकल की युवा पीढ़ी और बच्चे भी भोजन के मामले में फास्ट फूड को ज्यादा ही अहमियत देती हैं और इसे पसंद भी करते है। अगर आप भी फास्ट फूड का बिजनेस करके पैसे कैसे कमाए ये जानना चाहते हैं तो आप आर्टिकल को अंत तक पढ़ें। 

फास्ट फूड का मतलब क्या होता है?

अगर आप भी फास्ट फूड का बिजनेस करके पैसे कैसे कैसे कमाए ये जानना चाहते है, तो सबसे पहले आपको ये समझना बहुत आवश्यक है की अखिर फास्ट फूड होता क्या है। फास्ट फूड भी भोजन ही होता है। फास्ट फूड वह भोजन होता है, जिसे की आप सभी लोग रेस्तरां से ऑर्डर करते हैं और आपका यह ऑर्डर कुछ ही मिनटों में आपके पास आकर उपलब्ध हो जाता है। फास्ट फूड में पिज्जा, बर्गर, चाउमीन, फ्राइज जैसी चीजें शामिल होती है। फास्ट फूड जंक फूड के मुकाबले इतना नुकसानदायक नहीं होता है जंक फूड सेहत के लिए बहुत नुकसानदायक होता है।

फास्ट फूड को इस तरह से डिजाइन किया जाता है, जिससे कि आपको ये बहुत तेज रफ्तार में उपलब्ध हो जाए। फास्ट फूड जंक फूड के मुकाबले इतना नुकसानदायक इसलिए नहीं होता क्योंकि इसमे कुछ सीमा तक इसे बनाने के लिए हरी सब्जियों का प्रयोग किया जाता है। जैसे कि शिमला मिर्च, टमाटर, पत्ता गोभी, olives, प्याज, इत्यादि। जंक फूड हरी सब्जियां, फल, अनाज का मिश्रण से बना होता है। वहीं, दूसरी तरफ अगर देखा जाए तो जंक फूड में कोई भी ताजी चीजों का ईस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसलिए ही जंक फूड फास्ट फूड से ज्यादा नुकसानदायक होता है। 

फास्ट फूड बनाते समय उपयोग होने वाली सामग्री

अगर आप फास्ट फूड का व्यापार शुरू करते हैं तो उसके लिए आपको उसे बनाने के सामग्री की आवश्यकता जरूर होती है। फास्ट फूड बनाने के लिये सामग्री अगर आप खरीदना चाहते है तो आप इसे अपनी नजदीकी दुकान से आराम से खरीद सकते है। आप चाहें तो फास्ट फूड के लिए सामग्री आप ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से भी बहुत कम दामों में खरीद सकते है। फास्ट फूड के बिजनेस को चलाने के लिए आपको बहुत सारी सामग्री की आवश्यकता होती है, जैसे कि आटा, मैदा, रिफाइन ऑयल, सॉस, ब्रेड, ग्रीन वेजिटेबल, नमक, मसाला, चीज, मियोनी आदि।

फास्ट फूड के बिजनेस को कैसे शुरू करें

फास्ट फूड का बिजनेस आप 2 तरीकों से कर सकते है।

  1. ऑनलाइन बिजनेस
  2. ऑफलाइन बिजनेस

अगर आप ऑनलाइन बिजनेस  स्टार्ट करते हैं तो आपको कुछ चीजों की आवश्यकता जरूर ही होती है। ऑनलाइन बिजनेस स्टार्ट करने के लिए हमें एक लैपटॉप या फिर एक स्मार्टफोन और साथ ही एक अच्छा इंटरनेट नेटवर्क की आवश्यकता जरूर होती है। इसके उपरांत आपको ऑनलाइन मार्केटिंग की थोड़ी बहुत अच्छी जानकारी होनी चाहिए जिससे कि आप अपने ऑनलाइन बिजनेस का अच्छे से प्रचार कर सकें। और आजकल तो आप प्रचार करने के लिए सोशल मीडिया की मदद ले सकते है। जैसे कि इंस्टाग्राम, फेसबुक, WhatsApp आदि। या फिर आप अपने एरिया में जगह जगह पर होल्डिंग भी लगवा सकते हैं। आप अगर चाहें तो कोडिंग की थोड़ी बहुत जानकारी लेकर अपना app भी बना सकते है।

ऑनलाइन बिजनेस स्टार्ट करने के लिए हमें ऑनलाइन मार्केटिंग की अच्छी जानकारी होनी चाहिए। जिससे हम अपने ऑनलाइन बिजनेस को अच्छे मुकाम पर पहुंचा सकें। सबसे पहले आपको अपने ऑनलाइन बिजनेस का एक अच्छा सा टाइटल चाहिए होगा जैसे कि स्विगी, जोमैटो आदि। जिससे लोग भाग हमारे ऑनलाइन बिजनेस से ज्यादा से ज्यादा प्रभावित हो सकें, क्योंकि अगर आप एक अच्छा टाइटल देते हैं तो यह किसी भी खाने के स्वाद के बराबर का काम करता है।

ऑफलाइन बिजनेस भी आप बहुत अच्छे से कर सकते हैं। फास्ट फूड बिजनेस को शुरू करके आप लाखों रुपये तक कमा सकते हैं। आपके मन यह सवाल जरूर आरहा होगा की अखिर आप फास्ट फूड का बिजनेस करके पैसे कैसे कमाए। अगर आप फास्ट फूड का बिजनेस करते हैं तो इस बिजनेस में स्कोप की बिल्कुल भी कमी नहीं है। अगर आप चाहे तो अपना बिजनेस छोटे स्तर पर भी शुरू कर सकते हैं आप अपना फूड काउन्टर खोल सकते हैं उसमे आपको को डिश सबसे अच्छी बनानी आती है केवल वो भी रख सकते है। जैसे की चौमिन, पिज्जा और मंचूरियन जैसी चीजें बेचकर भी आप बहुत सारा मुनाफा कमा सकते है।

लेकिन अगर आप अपना बिजनेस बहुत ही बड़े पैमाने पर करने की सोच रहे हैं तो आप फास्ट फूड रेस्टोरेंट भी खोल सकते हैं और इससे आप अच्छे खासे पैसे कमा सकते हैं। लेकिन रेस्टोरेंट खोलने में लागत बहुत आती है। अगर आप मीडिल क्लास से belong करते हैं तो आपको इसमे थोड़ी परेशानी भी आ सकती है। क्योंकि आपको रेस्टोरेंट खोलने के लिए इन्वेस्टमेंट की आवश्यकता बहुत ज्यादा होती है। आप अगर अपना रेस्टोरेंट खोलते है तो उसमे सबसे पहले आपको इसे खोलने के लिए उपयुक्त स्थान का चयन करना पड़ेगा। आप स्थान ऐसा चुन सकते हैं जहां पर भीड़ वगैरह ज्यादा हो। इससे आपके रेस्टोरेंट की रेटिंग भी अधिक होंगी और आप ज्यादा मुनाफा भी कमा सकतें है।

अगर आप एक बार अपना रेस्टोरेंट खोल लेते हैं तो सबसे पहले आपको स्टाफ की आवश्यकता होती है। जिससे कि वे आपका काम में हाथ बटवा सके। आपको खाने बनाने के लिए सबसे अच्छे शेफ की भी आवश्यकता होगी क्योंकि अगर आपका खाना अच्छा होगा तभी लोग आपके रेस्टोरेंट में आपायेंगे और आपका खाना जितना स्वादिष्ट होगा और अच्छा होगा उतना ही आपको मुनाफा होगा।

फास्ट फूड बिजनेस के लिए लाइसेंस

अगर आप भी फास्ट फूड का बिजनेस करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कुछ लाइसेंस की आवश्यकता जरूर होती है। जैसे कि आप जानते ही होंगे की फास्ट फूड का बिजनेस खाद्य बिजनेस के अंतर्गत ही आता है। इससे तात्पर्य यह है की फूड सेफ्टी के अंतर्गत आता है। आपको फास्ट फूड का बिजनेस करने के लिए सबसे पहले अपने इस बिजनेस को पंजीकृत करवाना होता है। फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट ही इस प्रकार के व्यापार को चलाने की अनुमति देता है। फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट साथ ही साथ आपके प्रत्येक प्रोडक्ट और उसके निर्माण में लगने वाली सामग्री को भी जांच करता है। और यह बहुत आवश्यक भी है।

एक फास्ट फूड बिजनेस स्टार्ट करने के लिए आपको 5 लाइसेंस की जरुरत पड़ती है। जिनमे से FSSAI के द्वारा फूड लाइसेंस को अनुमति मिलती है। FSSAI का पूरा मतलब Food Safety and Standards Authority Of India होता है। फास्ट फूड के बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए लोकल मुन्सिपलिटी द्वारा हेल्थ लाइसेंस, सेफ्टी लाइसेंस, पुलिस विभाग की तरफ से लाइसेंस और जीएसटी लाइसेंस की भी आवश्यकता होती है। आपको इन सभी लाइसेंस को प्राप्त करने के लिए आपको संबंधित ऑफिस जाना होता है। और इसके लिए आवश्यक कागजी कार्यवाही संपन्न भी करनी होती है। और इन सभी प्रक्रिया को संपन्न करने के लिए आपको लगभग 3 महीनें का वक्त लगता है। अब आपके मन में यह सवाल भी अवश्य आरहा होगा कि लाइसेंस कैसे बनवाएं।

आप अपने फास्ट फूड बिजनेस के लिए लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आपको फास्ट फूड सेफ्टी और स्टैंडर अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया की ऑफिशियल वेबसाइट www.fssai.gov.in पर विजिट करना होता है। यहाँ पर इसके लिए आपको लाइसेंस प्राप्त करने के लिए इसके लिए आवश्यक फीस भी भरनी होती है, जो कि लगभग 5000 रुपय तक होती है। आपको अपना GST (Goods service Tax) सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए आपको किसी सीए से संपर्क करना होता है। हेल्थ और सेफ्टी सर्टिफिकेट के लिए मुन्सिपल कार्पोरेशन के ऑफिस में संपर्क करना होता है, यहाँ आपको सर्टिफिकेट के लिए आवश्यक फीस भी जमा करनी होती है जो की लगभग 3000 रुपय तक होती है।

फास्ट फूड के क्या नुकसान और फायदे होते है

आपको पता ही होगा जैसे की हर किसी चीज के दो पहलु होते है अच्छे और बुरे। इसी प्रकार से फास्ट फूड के भी कुछ  फायदे होते है और कुछ नुकसान।

फास्ट फूड के फायदे

आप लोग जैसी की रोज मर्रा की जिंदगी में सुनते ही होंगे कि अगर आपको बेहतर जीवन जीना है और स्वस्थ रहना है तो फास्ट फूड का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। कुछ हद्द तक बात सही भी है क्योंकि फास्ट फूड सेहत के लिए नुकसानदायक भी होता है। लेकिन अगर कुछ सावधानी रख कर फास्ट फूड बनाया जाए और उसका सेवन किया जाए तो फास्ट फूड लाभदायक भी होता है। जैसे की हमने आपको ऊपर बताया की फास्ट फूड बनाने के लिए कई सारे खाद्य पदार्थ ईस्तेमाल किए जाते हैं। लेकिन अगर आप खाद्य पदार्थ का चुनाव सही ढंग से करेंगे और इसे बनाने के लिए इसके तरीका में कुछ फेरबदल कर देंगे तो आपका फास्ट फूड स्वादिष्ट भी बनेगा और साथ ही साथ स्वस्थ को कोई भी नुकसान भी नहीं होगा।

फास्ट फूड में उपयोग किया जाने वाला मैदा के स्थान पर आप अगर गेहूँ के आटे का प्रयोग करेंगे तो उससे कोई भी नुकसान नहीं होगा क्योंकि मैदा को digest होने में काफी समय लगता है। आप अगर टोमैटो सौस का इस्तेमाल करते हैं तो आप उसका प्रयोग ना करके उसके स्थान पर ताजा टमाटर का इस्तेमाल कर सकते हैं। शरीर में पोषक तत्व की कमी नहीं हो इसके लिए आप पौष्टिक फल, सब्जी आदि को भी फास्ट फूड के साथ ले सकते हैं। ऐसे ही कुछ बातों को ध्यान में रखकर फास्ट फूड बनाया जाए व सेवन किया जाये तो फास्ट फूड स्वास्थ्यवर्धक होते हैं। नुकसान से अगर आप बचना चाहते हैं तो इसके लिए आपको तले हुये चीज में अस्वास्थ्यकर trans fat का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

आपको खाद्य पदार्थ जिसमें की बहुत ही ज्यादा कैलोरी या फिर अधिकतम फैट हों, उनके सेवन से आपको बचना चाहिए। इनके अलावा आप अगर ग्रिल्ड चिकन, सैंडविच, पके हुए आलू खाते है तो उनका सेवन आप कर सकते हैं। इसमें जूनियर बर्गर भी लिए जा सकते है। लेकिन आपको फ्रेंच फ्राइज खाने से बचना चाहिए क्योंकि इसमें अनहेल्थी ट्रांस फैट present होता ही है जो कि सेहत को खराब कर्ता है। 

आपको पता ही होगा जैसे की फास्ट फूड को बनाने में बहुत ही कम समय खर्च होता है। इसमें कम समय लगने के कारण से ही फास्ट फूड के सेवन में बचत होती है और लोग इसलिए इसे ज्यादा पसंद करते है। आजकल के समय में लगभग आपको सभी गली मुहल्ले में रोड साइड रेस्टोरेंट में हर एक जगह फास्ट फूड की दुकान मिल ही जाती है। इसलिए ही फास्ट फूड बहुत ही आसानी से हर जगह उपलब्ध भी हो जाता है। इसलिए ही फास्ट फूड से बनाने वाले व खाने वाले दोनों लोगों के ही समय की बचत होती है। इन सभी कारणों से ही फास्ट फूड आजकल बहुत चर्चे में है। 

आप लोग जानते ही होंगी जैसी बहुत सारे लोग इसका सेवन करने से बहुत ज्यादा डरते भी हैं कि इसे खाने से उनका वजन आधिक हो जाएगा। लेकिन याहं पर भी अगर आप फास्ट फूड के खाद्य पदार्थ में बनाते समय कम कैलोरी व कम फैट वाली खाद्य सामग्री का प्रयोग करते हैं तो फस्ट फूड वजन कम करने के लिए भी काम आ सकता है। इसलिए अगर आप भी फास्ट फूड का सेवन करते हैं तो इसमे कम कैलोरी और कम फैट वाला खाद्य पदार्थ लेने की कोशिश करनी चाहिए। जैसे कि खाद्य पदार्थों में अक्सर बहुत ज्यादा कैलोरीज और बहुत ज्यादा मात्रा में फैट होता ही है तो आपको उसके सेवन से बचने का प्रयास करना चाहिए।

खाद्य पदार्थ जैसे की पनीर, मयोनीज, विशेष प्रकार के चटनी, सोडा, इत्यादि। आपको रोजाना फल सलाद, सब्जी, साबुत अनाज इत्यादि का सेवन भी करते रहना चाहिए जिससे आपके शरीर को पोषक तत्व भी प्राप्त हो सके। और आप अगर फास्ट फूड का सेवन करते हैं तो तुरंत ही पानी नहीं पीना चाहिए और थोड़ा पैदल भी चलना चाहिए। 

फास्ट फूड से होने वाले नुकसान

फास्ट फूड के नुकसान भी बहुत होते हैं। अगर आप फास्ट फूड को बनाते समय ऊपर दी गई सावधानी को नहीं रखते हैं, तो फास्ट फूड खाने से आपको बहुत सारे नुकसानों का सामना भी करना पड़ सकता है। जैसे की अगर आप फास्ट फूड का अधिक सेवन करते हैं तो इससे मोटापा, अस्थमा, सर दर्द, दांतों में कैविटी, हाई ब्लडप्रेशर और इन सभी की ही भाति आपको कई सारी स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। जो लोग फास्ट फूड के शौकीन होते हैं वे अक्सर इन सावधानी को अनदेखा कर देते है। जो उनके स्वास्थ्य के लिये बहुत ज्यादा घातक साबित हो सकते हैं। और इसकी कीमत बीमारियों का शिकार होकर चुकानी पड़ सकती है। अगर फास्ट फूड का सेवन ज्यादा किया जाता है तो यह आपके बालों, त्वचा और नाखूनों पर भी प्रभाव डाल सकता है।

आपके भोजन के विकल्प भी आपकी त्वचा की उपस्थिति को प्रभावित कर सकते हैं, लेकिन यह भी हो सकता है कि यह वे खाद्य पदार्थ न हों जिनसे आप समस्या पैदा करने की उम्मीद करते हैं। मुंहासों जैसी समस्याओं के लिए पिज्जा, बर्गर और चॉकलेट का सारा दोष होता था, लेकिन असली समस्या आपके द्वारा खाए जाने वाले कार्बोहाइड्रेट की संख्या से आती है। ऐसे खाद्य पदार्थ जो कार्ब्स से भरपूर होते हैं, रक्त शर्करा की संख्या में वृद्धि करेंगे, और यह अचानक उछाल है जो एक ब्रेकआउट को ट्रिगर कर सकता है। वयस्क और बच्चे जो प्रति सप्ताह कम से कम तीन बार फास्ट फूड उत्पाद खाते हैं, उनमें भी एक्जिमा होने की संभावना अधिक होती है।

आप अपने बालों के विकास पर भी प्रतिकूल प्रभाव डाल सकते हैं और समय के साथ नाखून बढ़ते हैं। रिसर्च के अनुसार यह पता चला है की फास्ट फूड में monosodium glutamate का इस्तेमाल किया जाता है जो की सिर दर्द को अधिक करता है। अगर फास्ट फूड का सेवन लगातार ज्यादा मात्रा में करते हैं तो यह हार्ट से जुड़ी बीमारियों को भी आमंत्रित कर सकता है। इसमें हार्ट से जुड़ी बीमारियों का खतरा लगातार ज्यादा हो सकता है क्योंकि फास्ट फूड में फैट की मात्रा अधिक पायी जाती है। फास्ट फूड में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा भी काफी अधिक मात्रा में होती है।

जिसकी वजह से आपके ब्लड में शुगर और इंसुलिन प्रतिरोध बढ़ सकता है। जंक फूड के समान ही फास्ट फूड में भी सोडियम की मात्रा भी अधिक होती है। सोडियम का स्तर बढने से शरीर में अत्यधिक पानी जमा होने लगता है जिसके कारण सूजन भी हो सकती है। फास्ट फूड में मौजूद कार्ब्स और चीनी दांतों में कैविटी का कारण बन सकते हैं।

Fast Food बिजनेस में कितना मुनाफा हो सकता है

आप अगर फास्ट फूड का बिजनेस करना चाहते हैं तो इसे शुरू करने से पहले सभी के मन में यह सवाल आना स्वाभाविक है की अगर आप किसी भी बिजनेस को करते हैं तो आप उसे करने से कितना मुनाफा कमा सकते हैं। और किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले मुनाफे के बारे में सोचना लिए मुनाफा सबसे महत्वपूर्ण चीज होती है। क्योंकि लोग उसी कार्य को करना पसंद करते हैं जिसमें की ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो सके। मुनाफे के लिए ही व्यक्ति इतनी ज्यादा मेहनत करता है। आपके फास्ट फूड बिजनेस में अधिक मुनाफे के लिए हम आपको नीचे कुछ टिप्स दे रहें है जो आपके काम आयेंगे।

जब हम अपने बिजनेस के लिए मुनाफे की बात करते है तो यह बहुत आवश्यक है की आप अपने सप्लायर के साथ अच्छी और सही डील करे जो आपके बिजनेस के लिए फायदेमंद होती है। सबसे ज़्यादा जरूरी चीज किसी भी फास्ट फूड में उपयोग होने वाली सामग्री ही होती है फास्ट फूड बिना किसी सामग्री के बन ही नहीं सकता इसलिए जब भी आप फास्ट फूड बनाने के लिए सामग्री या फिर राशन का चयन करें तो आप उसे उतना ही खरीदें जितना कि आपको उसकी आवश्यकता होती है। अगर आप अपना रेस्टोरेंट का बिजनेस start करते हैं तो आपको मन में यह बात भी आती है की अखिर चीजों की कीमत कितनी रखनी चाहिए तो इसके लिए आप अपने चीजों की कीमत 10% से कम ही रखें।

क्योंकि अगर आप अपनी चीजों की कीमत को 10% से ज्यादा रखते हैं तो आपको अपने बिजनेस में लॉस होता हुआ भी दिख सकता है। हमारे भारत सबसे ज्यादा प्रचलित यहि कहावत है कि ग्राहक भगवान के समान होते हैं आप जितनी अपने ग्राहकों को अच्छी सेवाएं प्रदान करेंगे तो वे भी आपको अच्छा रेस्पॉन्स देंगे।

निष्कर्ष

किसी भी जगह नौकरी करने से बहुत ही ज्यादा बेहतर होता है की आप खुद का बिजनेस शुरू करें। मिडिल क्लास के लोग अगर ज्यादा बड़ा बिजनेस नहीं कर पाते हैं तो फास्ट फूड बिजनेस करके पैसे कमाने का अच्छा खासा जरिया बन सकता है। क्योंकि इसमे लागत भी कम लगती है और मुनाफा अधिक से अधिक होता है। फास्ट फूड का बिजनेस तो  12 महीने चलने वाला बिजनेस है आप अगर चाहें तो यह बिजनेस आपके कमाने का जरिया बन सकता है। मैने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से पूरी जानकारी देने की कोशिश की है, आप किस प्रकार फास्ट फूड बिजनेस करके पैसे कैसे कमाए। मैं आशा करती हूँ मेरी ये कोशिश आपको पसंद आई होगी। धन्यवाद!

FAQ’S

भारत में फास्ट फूड कितने प्रकार के होते हैं?

जैसे की आप लोग जानते ही हैं भारत में फास्ट फूड खाने का चलन बहुत ही ज्यादा तेजी से बढ़ रहा है। हमारे भारत देश में अलग-अलग प्रकार के लोग रहते हैं और इसलिए ही विभिन्न राज्यों में अलग-अलग तरीके के स्वाद पसंद किए जाते हैं। इसी वजह से ही बहुत सी विदेशी कंपनियां जो फास्ट फूड बनाती हैं वो भारत में अपना वर्चस्व स्थापित कर रही है और बहुत ही मुनाफा कमा रही हैं। क्योंकि फास्ट फूड खाने का स्वाद ऐसा होता है कि लोगों की जुबान पर बस जाता है। भारत के कुछ प्रसिद्ध फास्ट फूड जैसे इडली, डोसा, खमण, जलेबी, फाफड़ा, समोसा, कचोरी बहुत प्रसिद्ध है।

फास्ट फूड और जंक फूड में क्या अन्तर होता है?

फास्ट फूड और जंक फूड में काफी अन्तर होता है। फास्ट फूड और जंक फूड देखा जाए तो दोनों ही सामान्य ही होते हैं। लेकिन फास्ट फूड जंक फूड के मुकाबले इतना ज्यादा नुकसानदायक नहीं होता है क्योंकि इसमे हरि सब्जियों का प्रयोग होता है जो की सेहत के लिए लाभदायक होती है। फास्ट फूड जैसे आपको नाम से ही समझ आरहा होगा यह बहुत जल्दी तैयार हो जाने वाला भोजन होता है। और जंक फूड के नाम से भी आप समझ ही रहे होंगे कि जो फूड अच्छा और काम का न हो वो जंक फूड कहलाता है। जंक फूड वो खाना होता है, जब कि सेहत के लिए नहीं बल्कि स्वाद के लिए ही लोग इसे खाना पसंद करते है। जंक फूड में आपके जैसे चिप्स, कुरकुरे, फ्रेंच फ्राइज, समोसा, पकोड़े इत्यादि जैसी चीजें आती है।

फास्ट फूड ज्यादातर बहुत ही आसानी और कम दामों में प्राप्त हो जाता है इसलिए लोग इसे खाना और ज्यादा पसंद करते हैं। फास्ट फूड में आपके पिज्जा, बर्गर, momo, स्प्रिंग रोल, चीला इत्यादि जैसी चीजें आती है। जिसे बच्चों से लेकर बड़ों तक बहुत ही ज्यादा पसंद किया जाता है।

PaiseKaiseKamayen
error: Alert: Content selection is disabled!!