LED बल्ब बनाकर पैसे कैसे कमाए 

आज मैं आपको एक बहुत ही बेहतरीन बिजनेस के बारे में बताने जा रही हूं। जिसे करके आप बहुत सारे पैसे कमा सकते हैं। इस बिजनेस का नाम है “LED बल्ब“। LED बल्ब आज के समय में भारत देश में बहुत ही ज्यादा ही ज्यादा प्रचलित है। LED बल्ब को भारत में इसलिए ज्यादा प्रयोग व पसंद किया जाता है,  क्योंकि यदि किसी को भी बिजली की बचत करनी होती है तो वे LED के द्वारा बनाए गए इलेक्ट्रॉनिक सामान का अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल करते है। हमारे भारत देश में सरकार आजकल LED लाइट का बहुत ज्यादा समर्थन करने लगी है। LED लाइट का भारत में बहुत सारी जगहों पर भारत सरकार Domestic efficient lighting प्रोग्राम को लागू किया है। इसका मतलब होता है डीपीएल का पालन किया जाता है। यह योजना भारत में उजाला नाम से भी प्रचलित है।

भारत देश में LED बल्ब की डिमांड बहुत ही तेजी से बढ़ रही है। आप LED बल्ब की इस ज्यादा होती Demand का बहुत अच्छे से फायदा उठा सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं। आप LED बल्ब को बनाकर बेच भी सकतें हैं जिससे कि यह आपका पैसे कमाने का एक जरिया बन सकता है। अगर आप भी LED बल्ब बनाकर पैसे कैसे कमाए इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो उसके लिए कृपया आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

LED बल्ब बनाकर पैसे कैसे कमाए 
LED बल्ब बनाकर पैसे कैसे कमाए 

LED बल्ब क्या होते है?

सबसे पहले आपको ये पता होना बहुत ही आवश्यक होता है कि अखिर LED बल्ब होता क्या है? LED बल्ब के Godfather Nick Holonyak  को कहा जाता है। Nick Holonyak ने LED बल्ब की खोज सन् 1962 को की थी। लेकिन अगर हम LED बल्ब के इतिहास को बारीकी से जाने तो ऐसे कुछ वैज्ञानिक सामने आए है जिन्होंने भी पहले इसकी खोज की थी। उनमें से एक ब्रिटिश साइंटिस्ट्स H.J Round हैं। H.J Round ने सबसे पहले Markoni Laboratory में सन् 1902 को इसकी खोज की थी।

आज हम जिन LED Lights या LED Bulbs का Use करते हैं उनमें से सफ़ेद (दूधिया) रंग निकलता है पर शुरू-शुरू में जब ये अपने शुरुआती दिनों में था। तब इसमें से बहुत ही धीमी लाल रोशनी निकलती थी पर धीरे-धीरे वैज्ञानिकों ने इसमें सुधार किया और यह रौशनी नारंगी, पीली में परिवर्तित होने लगी, और वर्तमान में यह सफ़ेद रौशनी देने लगी है। 

LED Bulb की फुल फॉर्म light Emitting Diode होता है। LED बल्ब एक Semiconductor लाइट सोर्स होता है। जब भी इलेक्ट्रॉन semiconductor पदार्थ से होकर पास होते है तो वे छोटे कणों को रोशनी प्रदान करते है। जिन्हें आम भाषा में LED भी कहा जाता है। LED बल्ब सबसे ज्यादा उर्जा और रोशनी प्रदान करता है। LED बल्ब में Semiconductor से जब भी Current का फ्लो होता है तो प्रकाश उत्पन्न होता है। इसलिए ही इसे light Emitting Diode भी कहा जाता है। अगर आप LED को आसान भाषा में समझे तो जब भी कई सारी LED बल्बों को मिलाया जाता है और एक बल्ब बनता है तो उसे ही LED बल्ब कहते है। LED लाइट बहुत सारे प्रकार की होती है।

जैसे की Dimmer switches, कलर LED, LED ट्यूब लाइटिंग के लिए, SMD LED, COB LED, Graphene LED, ट्रडिशनल और inorganic LED,  Maximum brightness LED, Organic LED इत्यादि। अगर आप कभी भी पुराने LED बल्ब को खोलकर देखते है तो आप इसकी पुष्टि कर सकेंगे। डिजिटल घड़ी, टेलीफोन, केलकुलेटर, टॉर्च, मल्टीमीटर, रिमोट, इंडिकेटर लाइट्स आदि में Led का उपयोग बहुत ज्यादा स्तर पर किया जाता है। आजकल के समय में गाड़ियों में भी हैलोजन लाइट की जगह पर LED लाइट का भी प्रयोग किया जाने लगा है।

LED बल्ब बनाने के लिए रॉ मैटेरियल

अगर आप भी LED बल्ब को बनाकर पैसे कमाना चाहते है तो सबसे पहले आपको LED बल्ब बनाने के लिए रॉ मैटेरियल की आवश्यकता होती है। रॉ मैटेरियल ही LED लाइट की नीव होती है। रॉ मैटेरियल के बिना LED लाइट का बिजनेस असंभव है। LED लाइट के बिजनेस को शुरू करने लिये आपको बहुत सारे रॉ मैटेरियल की आवश्यकता होती है। जैसे की लेड चिप्स, रेक्टिफिएर मशीन, हिट सिंक डिवाइस, मैटेलिक कैप होल्डरप्लास्टिक बॉडी, रेक्टिफिएर प्लास्टिक ग्लास, connecting वायर, सोल्डरिंग फ्लक्स की आवश्यकता होती है। अगर हम इनकी कीमत बात करें तो लेड चिप्स की कीमत लगभग 1200 रुपए होती है। एक रेक्टिफिएर मशीन की कीमत लगभग 9 रुपए प्रति इकाई होती है।

एक हिट सिंक डिवाइस की कीमत लगभग 400 रुपए तक होती है। मैटेलिक कैप होल्डरप्लास्टिक बॉडी की कीमत लगभग 50 रुपए प्रति इकाई होती है। एक रेक्टिफिएर प्लास्टिक ग्लास की कीमत लगभग 3 रुपए प्रति इकाई होती है। और अंत में जो रॉ मैटेरियल इस्तेमाल होता है सोल्डरिंग फ्लक्स की कीमत लगभग 80 रुपए तक होती है। अगर आप LED लाइट का रॉ मैटेरियल खरीदना चाहते हैं तो आपके सामने 2 विकल्प आते हैं पहला आप यह रॉ मैटेरियल किसी भी दुकान से purchase कर सकते है। दूसरा आप यह रॉ मैटेरियल ऑनलाइन platforms से भी बहुत ही कम दामों में मंगवा सकते है। और आप यदि ऑनलाइन platform से मंगाते है तो आपको आपके सामन की डिलीवरी घर बैठे ही प्राप्त हो जाएगी।

LED बल्ब बनाने के लिए मशीन

अगर आप भी LED बल्ब बना कर पैसे कमाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको केवल रॉ मैटेरियल्स का उपलब्ध होना काफी नहीं होता है, ब्लकि इसके साथ-साथ आपको कुछ मशीन और कुछ इक्विपमेंट्स की भी आवश्यकता होती है। अगर आप इन मशीनों को खरीदना चाहते हैं तो आप इसे खुद जाकर खरीद सकतें हैं या फिर आप ऑनलाइन platform के जरिए ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं। Indiamart जैसी बहुत सारी ऑनलाइन sites है जहाँ से आप LED लाइट बल्ब को खरीद सकते हैं। अगर आप मशीनों की सहायता से LED लाइट बल्ब बनाते हैं तो आपको इससे बहुत फायदा होता है। आपको यह सारी मशीन बहुत ही आसानी से मिल जाएगी। 

अगर आप LED लाइट बल्ब का व्यापार करने के लिए मशीनों की आवश्यकता होती है, जो कि बहुत ही जरूरी भी होती है।

कॉम्पोनेंट फॉर्मिंग मशीन 

अगर आप LED लाइट बल्ब बनाना चाहते हैं तो आपको LED लाइट बल्ब बनाने के लिए एक कॉम्पोनेंट फॉर्मिंग मशीन की अवश्य ही जरूरत पड़ती है। आप अगर इस मशीन को खरीदना चाहते है तो आप Indiamart पर जाकर इसे खरीद सकते है। कॉम्पोनेंट फॉर्मिंग मशीन की कीमत लगभग 24,000 रुपए से शुरू होकर 85,000 तक होती है।

सोल्डरिंग मशीन 

LED लाइट बल्ब को बनाने के लिए आपको soldering सोल्डरिंग मशीन की जरूरत होती है। सोल्डरिंग मशीन की कीमत 250 रुपए से शुरू होकर 300 रुपए तक की होती है। यह मशीन ज्यादा महंगी नहीं होती है। सर्किट बोर्ड से तारों को जोड़ने के लिए शोल्डरिंग आयरन और शोल्डरिंग फ्लक्स आदि की जरूरत होती है। यह सामान आपको किसी भी इलेक्ट्रोनिक्स की दुकान पर लगभग 50 रुपए से लेकर 100 रुपए में एक बहुत ही अच्छी गुणवत्ता के साथ उपलब्ध हो जाता है और इसे आप अपने लोकल इलेक्ट्रॉनिक्स मार्केट से आसानी से खरीद सकते है।

डिजिटल मल्टीमीटर

अगर आप LED बल्ब बनान चाहते हैं तो आपको उसके लिए डिजिटल मल्टीमीटर की भी आवश्यकता होती है। डिजिटल मल्टीमीटर एक बहुत आदुनिक टेक्नोलॉजी है। डिजिटल मल्टीमीटर एक साथ बहुत सरे काम कर देता है। इसमे एक 7 सेगमेंट डिस्प्ले का उपयोग होता है। जिसमे की हमे सभी प्रकार के output देख सकते हैं।

डिजिटल मल्टीमीटर में आप 200mv से लेकर 450VAc करंट तक देख सकते है। यह उपकरण बहुत ही तेज काम करता है और इसका काम करने का तरीका भी बहुत आसान होता है। डिजिटल मल्टीमीटर की कीमत 220 रुपए से शुरू होकर 551 रुपए तक होती है।

टेस्टर 

आपको बल्ब की मैन्युफैक्चरिंग के लिए एक टेस्टर की भी आवश्यकता होती है। टेस्टर आपको Amazon, Indiamart और ऐसे कई सारी ऑनलाइन वेबसाइट से मिल जाएगा। एक continuity टेस्टर की कीमत 70 रुपए से शुरू होकर 565 रुपए तक की हो सकती है।

सीलिंग मशीन 

सीलिंग मशीन की मदद से आप LED बल्ब के filament को बहुत ही आसानी बना सकते है। सीलिंग मशीन को चलाने के लिए 2 लोगों की आवश्यकता होती है। अगर हम सीलिंग मशीन की कीमत की बात करें तो ये 899 रुपए से शुरु होकर 1350 रुपए तक कि होती है।

एलसीआर मीटर

LED लाइट बल्ब को बनाने के लिए एलसीआर मीटर की भी आवश्यकता होती है। एलसीआर मीटर की कीमत लगभग 2100 रुपए से लेकर 24000 रुपए तक होती है।

ड्रिलिंग मशीन 

LED लाइट बल्ब के मेकिंग के लिए आपको ड्रिलिंग मशीन भी खरीदनी होगी। ड्रिलिंग मशीन की कीमत लगभग 999 रुपए से शुरू होकर 1800 रुपए तक हो सकती है। और आप इसे किसी भी दुकान पर जाकर खरीद सकते है। आप ऑनलाइन भी बहुत ही कम कीमत में इस मशीन को खरीद सकते है।

LED बल्ब बनाकर पैसे कैसे कमाए

अगर आप भी LED बल्ब से बिजनेस करना चाहते हैं तो आपके मन यह सवाल जरूर आरहा होगा की अखिर आप LED बल्ब बनाकर पैसे कैसे कमाए। तो आपको अपने बिजनेस के बारे में जानकारी मार्केट से पता करनी होगी। आपको मार्केट जाकर बड़े, थोक और रीटेल विक्रेताओं से संपर्क बनाना होगा। जिससे कि वे आपके माल को खरीद पाएं। और आप अपना LED बल्ब बनाकर उससे अच्छा खासा प्रॉफिट भी कमा पाए।

आपको विक्रेताओं को भरोसा दिलाना होगा कि आप उनको जल्दी से जल्दी माल की supply कर सकते है। आपको अपने प्रॉडक्ट का नाम और उसके उचित रेट बताने चाहिए जिससे की आपका सामान जल्दी से सेल हो सके और आप उससे पैसे कमा पाएं। आप का माल अगर एक बार बिकने लग गया तो आपको उससे बहुत सारे ऑर्डर आने शुरू हो जाएंगे और आपकी ज्यादा कमाई भी हो पाएगी। अगर आप LED लाइट का व्यापार करते हैं तो इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि आप सरकार द्वारा प्रशिक्षण ले।

हमारे भारत देश में सरकार LED लाइट बल्ब को बढ़ावा देती है। सरकार ने जनकल्याण के लिए नयी योजना भी बनाई है जिसका नाम है उजाला योजना। LED लाइट बल्ब के व्यापार का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे बहुत ही कम पैसों के साथ शुरू कर सकते हैं। और अगर आप इस व्यापार को करते हैं तो इससे लाभ भी अधिक होता है।

अगर एक बार आपकी LED लाइट बल्ब के बिजनेस के लिए इन्वेस्टमेंट का प्रबंध हो जाए तो उसके बाद आपको तुरंत ही इसके लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन के लिए अप्लाई करना होता है। अगर आप भी LED लाइट बल्ब का बिजनेस करते हैं तो आपको लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करना बहुत ही जरूरी होता है। क्योंकि आपका LED लाइट बल्ब का बिजनेस लीगल होना चाहिए। जिससे की आप बिना किसी के अपना बिजनेस कर सकें। आपका LED लाइट बल्ब बिजनेस पूरी तरह सरकार द्वारा अप्रूव होना चाहिए। 

LED बल्ब बनाकर कितने पैसे कमा सकते हैं?

अगर आप भी LED बल्ब का बिजनेस करते हैं तो आपका इस बारे में विचार करना स्वाभाविक है की अखिर आप LED बल्ब बनाकर कितने पैसे कमा सकते है। अगर हम LED बल्ब बनाकर कमाई की बात करें तो यदि आप छोटा बिजनेस करते है तो तो उसी के हिसाब से आपकी कमाई होगी। और यदि आप अपना बिजनेस बड़े लेवल पर शुरू करते है तो आपकी कमाई इस पर निर्भर करती है कि आप एक दिन में कितना ज्यादा LED बल्ब का production करते है। और आप एक दिन में अपने समान की कितनी ज्यादा delivery करते है। आपके अपने बिजनेस को करने के लिए आपको पहले से ही कुछ पैसों की इन्वेस्टमेंट करना बहुत ही आवश्यक होता है। ताकि आप आसानी से LED लाइट बल्ब के बिजनेस की शुरुआत कर सके।

आपको इस बिजनेस को शुरू करने के लिए जमीन की आवश्यकता होती है। और आपके पास अपने बिजनेस को शुरू करने के लिए जमीन उपलब्ध है तो आपको जमीन को खरीदने के लिए पैसों को भरने की आवश्यकता नहीं होती है। किंतु आपके पास अगर जमीन उपलब्ध नहीं होती है तो जमीन को खरीदने में लगभग 5 से 10 लाख रुपए तक आराम से खर्च हो जाते है। और आपके पैसे इनसे अधिक भी लग सकते है। जमीन लेने के बाद आपको बिजनेस को सही ढंग से शुरू करने के लिए एक गोदाम या फिर एक दुकान की भी आवश्यकता होती है। जिसकी सहायता से आप अपना बिजनेस कर सकें। अब आपको अपना बिजनेस शुरू करने के लिए रॉ मैटेरियल खरीदना होता है।

इसके पश्चात आपको LED बल्ब को बनाने के लिए मशीन की भी आवश्यकता होती है जिससे की आप LED बल्ब के मैन्युफैक्चरिंग का काम बहुत ही जल्दी कर सकें और Sell कर सकें। आप अगर चाहें तो LED लाइट बल्ब बनाकर लाखों रुपए तक कमा सकते हैं। LED लाइट बल्ब बहुत ही अच्छा साधन है पैसे कमाने का। आप LED लाइट बल्ब बनाकर दिन के 10 हजार तक कमा सकते हैं और बाकी आपका प्रोडक्ट कितना ज्यादा लोकप्रिय है और आपके कितना ज्यादा ग्राहक है उसपर भी निर्भर कर्ता है। 

LED लाइट बल्ब के फायदे और नुकसान

आप लोगों के मन में यह सवाल भी आ सकता है अखिर LED बल्ब के क्या फायदे और नुकसान हो सकते हैं। जैसे कि आप सभी जानते भी होंगे की हर किसी चीज के कुछ अच्छे पहलू होते है और कुछ बुरे। LED लाइट बल्ब के भी नुकसान और लाभ दोनों ही होते है। 

LED लाइट बल्ब से होने वाले लाभ

आजकल आप टीवी पर भी देख ही रहे होंगे की LED लाइट बल्ब का प्रचार कितना ज्यादा ही बढ़ गया है। आज के दौर में बहुत सारी कंपनियां LED बल्ब को बनाती है, जो की टीवी पर विज्ञापन द्वारा यह बताती है की यह कितने ज्यादा फायदेमंद होते है और LED बल्ब बहुत ही कम बिजली में बहुत ज्यादा रोशनी प्रदान करते है। आप जानते ही होंगे की LED बल्ब से पहले हम सीएफएल का इस्तेमाल करते थे। लेकिन सीएफएल हमारे लिए काफी नुकसानदायक होती है क्योंकि उसमें मरकरी का प्रयोग किया जाता था जो की हमारे स्वास्थ्य को काफी ज्यादा हानि पहुंचा सकता था।

सीएफएल से पहले हम बल्ब का भी प्रयोग करते थे, जो की बहुत ही ज्यादा बिजली की खपत करते थे। बल्ब भी काफी ज्यादा नुकसानदायक रहते थे। क्योंकि वह बल्ब कभी भी टूट जाते थे जिसके कारण लोगों को हानि हो सकती थी। इन सभी को देखते हुए LED लाइट बल्ब के लाभ सामने आए है। आप इसके लाभ अच्छे से समझने के लिए नीचे दिये गये पॉइंट्स देख सकते हैं:-

  1. Led लाइट बल्ब से बहुत ही ज्यादा कम बिजली की खपत होती है। LED बल्ब बहुत ही कम बिजली खाते हैं और बहुत ही ज्यादा रोशनी प्रदान करते है।
  2. LED लाइट बल्ब बहुत ही लंबे समय तक चलते हैं क्योंकि यह जल्दी से टूटते बिल्कुल नहीं हैं, और ना ही जल्दी फ्यूज होते है।इनकी सेल्फ लाइफ अधिक होती है।
  3. LED लाइट बल्ब हर मौसम के लिए सही रहते हैं। यह बल्ब बारिश के मौसम के लिए सही रहते हैं क्योंकि यह बारिश में भीगने पर भी खराब नहीं होते हैं ना ही फ्यूज होते है।
  4. LED बल्ब ऐसे बल्ब होते हैं जिनकी रोशनी पर हम नियंत्रण भी कर सकते है।
  5. LED लाइट बल्बो में कोई भी हानिकारक पदार्थ नहीं होता है। LED बल्ब हमारे स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए सुरक्षित होते है।
  6. LED लाइट बल्ब से पैसे की भी बचत होती है।

LED लाइट बल्ब के नुकसान 

LED लाइट बल्ब जितनी फायदेमंद होती हैं उतनी ही नुकसानदायक भी हो सकती है। LED लाइट बल्ब से जो  ब्लू रेज निकलती हैं वे दरअसल बाइपोलर डिसऑर्डर  (Bipolar Disorder) को बढ़ावा दे सकती है। साथ ही साथ ये अवसाद के कुछ लक्षणों को भी बढ़ावा दे सकती है। LED लाइट जो पर्यावरण अनुकूल होती हैं वे आपकी आखों को बहुत ही ज्यादा नुकसान पहुंचाती हैं। LED इंसान के आखों के अंदर जो रेटिना होता है उसको सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाती है। रेटिना आखों का वह भाग होता है जहां पर लाइट पढ़ने से इमेज बनती है।

अगर आपका रेटिना ही खराब हो जाएगा तो आपको देखने में बहुत ही ज्यादा दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। LED की किरणों में लगातार ही रहने पर यदि आपकी रेटिना की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है तो उन्हें बिल्कुल भी ठीक नहीं किया जा सकता है।कंप्युटर स्क्रीन, फोन स्क्रीन, टेलीविजन स्क्रीन, और ट्रैफिक लाइट के अलावा आने वाले समय में LED लाइट से भी विश्व स्तर पर आखों की बीमारी एक महामारी का रूप भी ले सकती है।

इसे भी पढ़ें: Organic खेती से पैसे कैसे कमाएं

निष्कर्ष 

LED लाइट बल्ब आज के समय बहुत ही प्रचलित हो रहा है। भारत सरकार भी LED लाइट को लेकर काफी सारे कदम उठा रही है। LED बल्ब से खर्चा कम होता है और लाइट की भी बचत होती है। अगर आप LED लाइट बल्ब के बिजनेस की शुरुआत घर से करते हैं या फिर बहुत ही छोटे स्तर पर करते है, तो आपको उसी के हिसाब से मुनाफा होगा और आपको इसके लिए लोन लेने की भी आवश्यकता नहीं होती है। और इसी जगह आप अपना बिजनेस बड़े स्तर पर करते है तो आपको इसके लिए लोन लेने की आवश्यकता हो सकती है। और आपको इसके लिए जगह की भी आवश्यकता होती है। अगर आप इस बिजनेस को करते हैं तो अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते है। आप अपना बिजनेस ऑनलाइन भी कर सकते हैं जिससे कि आपको और ज्यादा मुनाफा हो सके।

मैंने आपको इस आर्टिकल के जरिए आपको LED बल्ब बनाकर पैसे कैसे कमाये इसके बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। इस आर्टिकल में आपको LED बल्ब क्या होता है इससे लेकर आप कितने पैसे कमा सकते है और इसके क्या फायदे और नुकसान होते है। इसके बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। मैं आशा करती हूँ आपको मेरी यह कोशिश पसंद आयी होगी। धन्यवाद!

FAQ’S

Q.1 LED बल्ब और CFL में क्या अन्तर होता है?

Ans- LED बल्ब की फुल फॉर्म light Emitting Diode होती है। CFL की फुल फॉर्म compact fluorescent लाइट होती है। CFL को दुकान और स्कूल में इस्तेमाल करते है। LED बल्ब को ज्यादा तर घरों में इस्तेमाल किया जाता है। LED बल्ब CFL की तुलना में बहुत ही कम बिजली की खपत करते है। CFL का आकार LED बल्ब के मुकाबले बहुत ही बड़ा होता है वे आकार में लंबी और पतली होती है और LED बल्ब का आकार बहुत छोटा और गोल होता है। एक LED लाइट बल्ब की सेल्फ लाइफ आमतौर पर 50,000 घंटों तक होती है या फिर उससे अधिक भी हो सकती  है। CFL लाइट बल्ब की सेल्फ लाइफ 8,000 घंटे तक ही होती है।

Q.2 LED लाइट बल्ब कितने प्रकार के होते है?

Ans- LED बल्ब देखे जाएं तो कई सारे प्रकार के होते हैं। लेकिन उनमें से सबसे ज्यादा लोकप्रिय 2 प्रकार के ही LED लाइट बल्ब होते है। साधारण LED लाइट बल्ब और decoration LED लाइट बल्ब। 
साधारण LED लाइट बल्ब: आप सभी लोगों के घरों में इस्तेमाल किया जाने वाला LED लाइट बल्ब जो की 100 रुपए से लेकर 200 रुपए तक 7 वाट से 5 वाट तक आ जाता है उससे हम साधारण LED लाइट बल्ब कहते है।
Decoration LED बल्ब: शादी और पार्टी में decorations के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले LED लाइट बल्ब को decorations LED लाइट बल्ब कहते हैं। यह बल्ब बहुत ज्यादा मात्रा में इस्तमाल किए जाते है। decorations LED लाइट बल्ब का प्रयोग पूरे भारत वर्ष में दिवाली के समय भी किया जाता है।

PaiseKaiseKamayen
error: Alert: Content selection is disabled!!